फिर हुआ हिंदी का अपमान।


मुंबई, अमिताभ बच्चन अभिनीत फिल्म पा से हिन्दी सिनेमाई दुनिया में नाम शोहरत कमाने वाले आर बाल्की एक बार फिर एक अलग तरह की फिल्म *चुप रिवेंज ऑफ़ द आर्टिस्ट* लेकर आए हैं जो कि 23 सितंबर को रिलीज हो रही है फिल्म चूंकि एक फिल्मकार पर है और इसमें एक समीक्षक की भी बड़ी भूमिका है लिहाजा अलग तरह का प्रमोशन करने की मंशा से फिल्म समीक्षकों को लेकर एक डिबेट भी रखा गया, जिसमें केवल इंग्लिश के पत्रकारों को शामिल किया गया। जो हिंदी के लिए अपमान जैसी बात है। दरअसल हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में लगभग दो दशकों से फिल्मकार खाते तो हिंदी की है लेकिन गाते अंग्रेजी की है इसी का उदाहरण यहां आज मुंबई अंधेरी के पीवीआर आईकॉन मल्टीप्लेक्स में भी दिखाई दिया, जहां पर शो से पहले एक डिबेट रखा गया एक बहस रखी गई जिसमें सिर्फ अंग्रेजी के फिल्म समीक्षकों को ही शामिल किया गया।

यह तो अच्छा हुआ कि एक भले लेखक निर्देशक अनीस बज्मी इस बहस में शामिल थे उन्होंने हिंदी में बात कर हिंदी की लाज रखने की भरपूर कोशिश की, जिसके लिए हिंदी मीडिया अनीस बजमी का आभारी रहेगा। हालांकि इस मौके पर एक पत्रकार ने मंच से यह सवाल भी किया कि हिंदी की फिल्म है तो इंग्लिश में इंग्लिश समीक्षको को लेकर यह बहस क्यों ? इसका जवाब वहां बैठा कोई भी शख्स नहीं दे पाया और तभी सन्नी पाजी की एंट्री होती है और वह जोर से चिल्लाते हैं चुप और बहस वही खत्म हो जाती है।

बरहाल यहां आप को बता दे कि बाल्की की इस फिल्म में मर्डर मिस्ट्री तो देखने को मिलेगी वहीं फिल्मी दुनिया के कुछ रंग भी देखने को मिलेंगे। इस फिल्म का प्लस पॉइंट सन्नी देओल भी है, जोकि फिल्म में पुलिस इंस्पेक्टर के रूप में एक किलर की तलाश करते दिख रहे है, क्यूंकि सन्नी के फैंस एक लंबे समय से उनकी फिल्म का इंतजार कर रहे है तो वे जरूर फिल्म देखेंगे।
दूसरा प्लस पॉइंट पूजा भट्ट भी है, पूजा भी एक लंबे समय बाद किसी फिल्म में अभिनय करती दिखाई देंगी। यहां हम आप को बता दे कि सन्नी और पूजा फिल्म अंगरक्षक में साथ आ चुके है। इनके अलावा फिल्म में दुलकर सलमान, श्रेया धनवंतरी, राजीव रविंद्रनाथन, अभिजीत सिन्हा आदि प्रमुख है।
इस फिल्म को हिट करने या यूं कहें कि दर्शकों को थिएटर तक बुलाने के लिए इस फिल्म के टिकट भी कम किए गए है, आप ये फिल्म अब75 रूपए में देख पाएंगे। इसका भी प्रचार किया जा रहा है।
j

VS NATION
Author: VS NATION