4G गर्ल साशा बनी पत्रकार झांसी, पहली हिंदी फिल्म प्रेस्टीट्यूट का टीजर हुआ रिलीज।


मुंबई, विज्ञापन की दुनिया एक अलग ही दुनिया है जहां सेकेंड्स में पूरी कहानी कह दी जाती है। और एक ही विज्ञापन फिल्म से कोई इस चकाचौंध की दुनिया का स्टार भी बन जाता है। एड वर्ल्ड की इसी दुनिया में एक स्टार साशा भी है। जो अब फिल्मों में भी अपनी पकड़ बनाती दिखाई दे रही है। इनकी अब तक 3 तेलगु फिल्में आ चुकी है। अब साशा की पहली हिंदी फिल्म प्रेस्टीट्यूट जल्द रिलीज होने वाली है। इस फिल्म का टीजर आज जुहू के सन एंड सैंड होटल में फिल्म की टीम व कुछ खास मेहमानों की मोजुदगी में लॉन्च किया गया।

करीब तीन वर्ष पहले चमकीली छोटी छोटी आंखों, सामान्य कद काठी की, बढ़िया फिगर, औसत चेहरे, छोटे-छोटे बाल हैं. फिर भी यह लड़की कुछ ऐसा कर दी , जिसने सबको आकर्षित कर दिया। और इसे नाम मिला एयरटेल 4जी गर्ल का। 19 साल की इस एयरटेल 4जी गर्ल का असली नाम साशा क्षेत्री हैं। साशा के सफ़र पर नजर डालें तो फौजी पिता की बेटी साशा देहरादून में पली-बढ़ी हैं. वे करीब तीन साल पहले मुंबई आई थीं. यहां एडवरटाइजिंग की पढ़ाई की. मॉडलिंग का जूनून बचपन से था लेकिन पहली जॉब कॉपी राइटर की मिली. कॉपी राइटिंग करते हुए अपने सपने के लिए हाथ-पैर मारती रहीं. एक दिन एयरटेल के ऐड में आने का वो एक मौका मिल ही गया। एयरटेल के अब तक के ऐड कैंपेन में साशा इकलौता मशहूर नाम हैं।

साशा एक आम शहरी लड़की है, साशा जिस आत्मविश्वास से बात करती हैं, वो लोगों को उस पर भरोसा करने देता है। जिन शब्दों का इस्तेमाल करती हैं, वो एक आम युवा के रोज के बोलचाल के शब्द हैं। जो उसकी बॉडी लैंग्वेज हैं, आज का युवा ऐसा ही है। अगर नहीं है तो होना चाहता है।जिस तथाकथित स्टाइल के साथ बड़े सितारे पेश आते हैं उसे देखकर युवा तालियां तो बजा सकता है पर खुद को वहां पर रखकर सोचने की हिम्मत नही कर पाता है। साशा के साथ जहां एक ओर युवा खुद को जुड़ा हुआ महसूस करता है, वहीं एक पीढ़ी पहले के लोग भी उनमें अपने बच्चे ढूंढ लेते हैं।

विज्ञापन की दुनिया से साशा ने अब फिल्मी आसमान पर अपनी उड़ान भर दी है। यूं साशा ने तेलगु फिल्मों से अपनी शुरुआत की, जहां उसे पहचान मिलने लगी है। अब इनकी हिंदी फिल्म प्रेस्टीट्यूट जल्द आने वाली है जिसे लेकर साशा बहुत ज्यादा एक्साइटेड है। इस फिल्म में ये एक पत्रकार झांसी का किरदार निभा रही है। किसके लिए साशा को मार्शल आर्ट भी सीखनी पड़ी।

बातचीत में मार्शल आर्ट की बात करते हुए साशा ने कहा कि आज के युग में अपनी सुरक्षा के लिए हर महिला को मार्शल आर्ट के दो चार पंच आने ही चाहिए। प्रेस्टीट्यूट के निर्देशक माधव के विषय में साशा ने कहा कि ये बहुत ही कूल एंड हार्ड वर्कर है। बड़ी मेहनत से बड़ी अच्छी फिल्म बनाई है।
भविष्य में साशा कॉमेडी फिल्में भी करना चाहती है। साशा का कहना है कि आज दुनिया में तनाव बहुत बड़ा है, ऐसे में हास्य की बहुत जायदा जरूरत है।
अंत में दीपावली की शुभकामनाएं देते हुए साशा ने कहा कि पटाखे कम जलाए ताकि कुत्ते डरे नहीं और प्रदूषण भी कम हो, दिए जलाए, मिठाईयां बनाए और अपने प्रियजनों गिफ्ट बांटे।

VS NATION
Author: VS NATION