“बाबूजी की चौदहवीं पुण्यतिथी पर मुफ्त चिकित्सा शिविर सहित विविध कार्यक्रम संपन्न”


नालासोपारा, श्री नरसिंह के. दुबे चॅरिटेबल ट्रस्ट द्वारा संचालित नालासोपारा आयुर्वेद मेडिकल कॉलेज एवं रुग्णालय द्वारा परमपूज्य “बाबूजी” स्वर्गीय श्री नरसिंह के. दुबे जी के 14 वें पुण्यस्मरण के उपलक्ष्य में हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी 28 जनवरी 2023 को सुबह 9.00 बजे से रात 10.00 बजे तक विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इसमे नि:शुल्क चिकित्सा शिबिर, सुदृढ बालक प्रतियोगिता,अन्नवह स्त्रोतस पर आधारित वनौषधीयों की प्रदर्शनी, संभाषा प्रतियोगिता,भावपूर्ण श्रद्धांजली, विशुद्ध भोजपुरी/अवधि कवी संमेलन आदी कार्यक्रमों का आयोजन किया गया l कार्यक्रम की शूरुवात दीप प्रज्वलन एवं धन्वंतरी पूजन से की गई।
नि:शुल्क चिकित्सा शिबिर में 1074 मरीजोने विभिन्न चिकित्सा का लाभ लिया। जिसमे रक्त परीक्षण, इसीजी,एक्स-रे आदि नि:शुल्क परीक्षण चिकित्सकों के सलाह के अनुसार किया गया। जिन को शस्त्र कर्म की आवश्यकता थी वह सभी शस्त्रकर्म एक सप्ताह में निशुल्क किये जायेंगे। किफायती दाम में चष्मा वितरण किया गया।महाविद्यालय के सभागृह में सुदृढ बालक प्रतियोगिता 10.00 बजे से दोपहर 1.00 बजे के दरम्यान संपन्न हुई। प्राथमिक दौर के 50 प्रतियोगियों में से 30 प्रतियोगी अंतिम दौर में सहभागी हुए।

विख्यात बालरोग तज्ञ डॉक्टर आशिष सिंग टायटन मेडीसिटी हॉस्पिटल, मानपाडा, ठाणे ,पश्चिम, एवं डॉक्टर प्रिया विशाल नाईक सहाय्यक प्राध्यापक आर. ए. पोदार आयुर्वेद महाविद्यालय वरळी मुंबई इन निर्णायकोने बालकों का चयन किया। इस प्रतियोगिता मे प्रथम पुरस्कार 1501/-द्वितीय पुरस्कार १००१/- तृतीय पुरस्कार 751/- प्रमाणपत्र एवं ट्रॉफी देकर विजेताओ को पुरस्कृत किया गया। 6 माह से 2 साल तक के गट में प्रथम पारितोषिक आराध्या पाटील इनको दिया गया। 2 साल से 3 साल तक में प्रथम पारितोषिक अविष्का सिंह ,द्वितीय पारितोषिक त्रिशा पाटेकर , तृतीय पारितोषिक, विहाना पाटील इनको दिया गया। 3 साल से 5 साल तक के गट मे प्रथम पारितोषिक सानवी धाडवे,द्वितीय पारितोषिक अंशराज पवार, तृतीय पारितोषिक रिया मटावकर इन्हें देकर पुरस्कृत किया गया।
दोपहर 2.00 बजे से प्रारंभ हुई संभाषा प्रतियोगिता में प्राथमिक दौर में चयनित 77 प्रतियोगियों में से 15 प्रतियोगियों ने अंतिम दौर में हिस्सा लिया। इसमे महाराष्ट्र राज्य के सभी वैद्यकीय, डेंटल ,आयुर्वेद होमिओपॅथी, नर्सिंग,फिजिओथेरपी एवं अन्य क्षेत्र के विद्यार्थीयोने सहभाग लिया।
1)अत्याधिक विलासिता अत्यल्प जीवनकाल
2) लॉक डाऊन से सबक
3) डिजिटल डिटॉक्सिफिकेशन – समय की आवश्यकता
4) अभिव्यक्ती स्वतंत्रता की मर्यादा आवश्यक?
5) आयुर्वेद अनेको के लिए छिपा इलाज
यह पांच विषय दिये गये थे।
संभाषा प्रतियोगिता के परीक्षक माननीय श्री शितला प्रसाद दुबेजी,कार्याध्यक्ष महाराष्ट्र हिंदी अकॅडमी, श्री एन. गणेश जी वरिष्ठ संपादक, श्रीमती अनुराधा राजाध्यक्ष जी व्यावसायिक रंगमंच, चित्रपट एवं दूरदर्शन अभिनेत्री व लेखिका इन्होने विषय का चयन, शब्दोच्चार, आत्मविश्वास, प्रभाव आदी गुणवत्ता के अनुसार स्पर्धकों को प्रथम द्वितीय तृतीय व उत्तेजनार्थ पुरस्कार के लिए चुना।

प्रथम पारितोषिक सुप्रीम अशोक मस्कर ,साठे महाविद्यालय विलेपार्ले 10,000/- स्मृतीचिन्ह व प्रमाणपत्र, द्वितीय पारितोषिक अनिकेत अशोक खोत, नालासोपारा आयुर्वेद मेडिकल कॉलेज 7000/- स्मृतिचिन्ह व प्रमाणपत्र, तृतीय पारितोषिक मेमन जुबेदा इकबाल भवन्स कॉलेज,अंधेरी 5000 /- स्मृतीचिन्ह व प्रमाणपत्र,उत्तेजनार्थ पुरस्कार विनायक अनिल मोरे नालासोपारा मेडिकल कॉलेज 3000/- स्मृतीचिन्ह व प्रमाणपत्र देकर पुरस्कृत किया गया।

संस्था के अध्यक्ष माननीय श्री जयप्रकाश दुबे जी एवं सभी निर्णयाको द्वारा पुरस्कार वितरण का कार्यक्रम संपन्न हुआ।
पारितोषिक वितरण के पश्चात परमपूज्य बाबूजी के स्मृती को भावपूर्ण श्रद्धांजली व्यक्त की गई। इस सभा मे सभी अध्यापक, विद्यार्थी कर्मचारी एवं नालासोपारा-मुंबई परिसर की जनता उपस्थित थी।

तत्पश्चात भोजपुरी / अवधी कवी संमेलन का आयोजन किया गया उसमें श्री राजीव मिश्राजी जोनपुर उत्तर प्रदेश,श्री सुभाष यादव जी सिवान बिहार, श्री रत्नेश चंचलजी भभुवा कैमुर बिहार,श्री सुरेश मिश्रजी हास्य कवी मुंबई, प्रतापगड, उत्तर प्रदेश, श्री ज्ञानेश्वर गुंजनजी पश्चिमी चंपारण बिहार, श्री हृदयानंद विशाल जी देवरिया,उत्तर प्रदेश, आदि कवियोंने हास्य,व्यंग, करूण, शृंगार एवं वीर रस की कविताओं का श्रोताओने आनंद लिया। सभी भोजपुरी अवधी भाषिक स्त्री एवं पुरुषोने कवी संमेलन का भरपूर लुत्फ उठाया। पश्चात”स्वरूची भोज” कार्यक्रम संपन्न हूआ।

VS NATION
Author: VS NATION