* म्यूज़शियन्स को अपने साथ जोड़ते हुए ISRA अब बन गया है ISAMRA*


आज से 10 साल पहले इंडियन सिंगर्स राइट्स एसोसिएशन (ISRA) की स्थापना स्वर कोकिला लता मंगेशकर के नेतृत्व में और उन्हीं की अध्यक्षता में की गई थी. एक ग़ैर-लाभकारी संगठन होने के नाते इसे 1956 के कंपनी अधिनियम के तहत पंजीकृत कराया गया था. उल्लेखनीय है कि लता मंगेशकर ने आशा भोंसले, अलका याग्निक, सोनू निगम, संजय टंडन, ऊषा मंगेशकर, सुरेश वाडकर, पंकज उधास, अनूप जलोटा, तलत अजीज़, कुमार सानू, अभिजीत भट्टाचार्य, कविता कृष्णामूर्ति, शान, हरिहरण, जस्सी, सुनिधि चौहान, महालक्ष्मी अय्यर जैसी हस्तियों के साथ मिलकर ISRA की स्थापना की थी ताकि वो सभी गायक/गायिका को रॉयल्टी के रूप में उनका हक़ दिला सकें.

आज जब ISRA ने अपनी स्थापना के 10 साल पूरे कर लिये हैं और ऐसे में इंडियन परफॊर्मर्स फ़ॉर सिंगर्स अब इंडियन सिंगर्स ऐंड म्यूज़िशियन्स राइट्स एसोसिएशन (ISAMRA) में तब्दील हो गया है जिसके तहत अब म्यूज़िशियनों के रॉयल्टी के अधिकारों को भी तव्वजो दी गई है.

उल्लेखनीय है कि ISAMRA को उसके जन्मदिवस के अवसर पर उसे बधाई देने के लिए 100 से ज़्यादा सिंगर्स व अन्य हस्तियां शामिल हुईं. इसका जश्न मनाने के लिए अनूप जलोटा, संजय टंडन, सोनू निगम, शैलेंद्र सिंह, कविता कृष्णमूर्ति, शान, उदित नारायण, हरिहरण, सुनिधि चौहान,शाहिद रफ़ी, अमित कुमार, सुमित कुमार, मीट ब्रदर्स, नितिन मुकेश, सुदेश भोसले, जसपिंदर नरूला, महालक्ष्मी अय्यर, सौम्या राव, अदिति सिंह शर्मा, शाहिद माल्या, रूपकुमार राठौड़, सोनाली राठौर, अरविंदर सिंह, रेखा राव, सायरा खान, सतीश देहरा, संजय राज गौरीनंदन, विष्णु मिश्रा, अनिल शर्मा, उषा तिमोथी जैसी तमाम गायक मुम्बई के रहेजा क्लासिक में इकट्ठा हुए.

जो‌ नहीं जानते हैं उन्हें बता दें कि ISRA एकमात्र भारतीय पर‌फ़ॉर्मर्स कॉपीराइट सोसाइटी है जो तमाम चुनौतियों के बीच और मज़बूत होकर उभरी है और अपने स्थापना के 10 सालों में नई ऊंचाइयां हासिल की हैं.

उल्लेखनीय है कि परफ़ॉर्मरों के रॉयल्टी पाने‌ के अधिकार को लेकर ISRA ने साल 2016 और साल 2022 में अक्तूबर महीने में इस मसले पर दिल्ली हाई कोर्ट में दो मामलों में जीत हासिल की थी. इसके बाद ISRA ने तमाम म्यूज़िक लेबलों के साथ ऐतिहासिक करार किया था. इस संधि के बाद सिंगरों को रॉयल्टी देने को लेकर‌ चली आ रही एक लम्बी क़ानूनी लड़ाई पर‌ लगाम‌ लग गया था.

माननीय केंद्रीय कार्मिक एवं व्यापार मंत्री पीयूश गोयल ने अप्रैल, 2023 मे एक ऐतिहासिक उपलब्धि को हासिल करने पर ख़ुशी जताते हुए सिंगर्स के लिए‌ 50 करोड़ रुपये की रॉयल्टी की घोणषा की थी. अब ताज़ा ख़बर ये है कि तमाम म्यूज़िशियनों को भी ISRA की ओर से रॉयल्टी प्राप्त होगी. इस कोशिश को मूर्त रूप देने के लिए ISRA का नाम बदलकर अब ISAMRA (इंडियन सिंगर्स ऐंड म्यूज़िशियन्स राइट्स एसोसिएशन) रख दिया गया है. ISAMRA भारत के ही नहीं बल्कि यह पूरी दुनिया के सिंगर्स और म्यूज़िशियन्स का प्रतिनिधित्व करता है. अपने‌ परस्पर संबंधों के‌ बूते पर‌ संगठन परफ़ॉर्मर्स (सिंगर्स) का 95% हिस्सा नियंत्रित करता है और इस संगठन के‌ सदस्यों के रूप में देश के पूर्व, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण सभी भागों से लोग जुड़े हैं. ग़ौरतलब है कि ISAMRA का जुड़ाव 18 विदेशी संगठनों से भी है जिससे उसकी वैश्विक अहमियत उपस्थिति का पता चलता है.

ISRA की संस्थापक अध्यक्ष व भारत रत्न से नवाज़ी गईं गायिका लता मंगेशकर ने एक बार कहा कहा था, “मुझे बहुत ख़ुश हूं कि मैं मैंने जो मसला उठाया था, अब वो रंग ला रहा है. सिंगर्स को अब जाकर उनकी रॉयल्टी का हक़ मिल रहा है. बधाई और शुक्रिया ISRA”.

ISRA के अध्यक्ष अनूप जलोटा कहते हैं, “मुझे इस बात की बेहद ख़ुशी है कि ISRA अब ISAMRA में तब्दील हो गया है और इसमें अब म्यूज़िशियनों को भी शामिल कर लिया गया है. मुझे यह जानकर ख़ुशी हो रही है कि अब म्यूज़िशियनों को ISAMRA के ज़रिए रॉयल्टी मिला करेगी. ये एक ऐतिहासिक घटना है.”

इस पर सोनू निगम ने कहा, “ये भारत के गायक/गायिकाओं व संगीत से जुड़े लोगों के लिए एक बहुत बड़ा व ठोस क़दम है. ISAMRA के चलते भूतकाल, वर्तमान काल और भविष्य काल के सभी आर्टिस्ट्स को रॉयल्टी प्राप्त हो सकेगी, ठीक वैसे ही जैसे विदेशी कलाकारों को रॉयल्टी मिला करती है. आख़िरकार एक लम्बे अर्से से देखा जा रहा सपना अब सच होने जा रहा है.”

इस मौके पर ISRA के सह-संस्थापक व सीईओ संजय टंडन ने कहा “ISRA के 10 साल होने के अवसर पर इससे बढ़िया ख़ुशख़बरी कोई और हो ही नहीं सकती है! गायक/गायिकाओं के अधिकारों को सुरक्षित करने के बाद ISRA ने‌ इस साल तमाम म्यूज़िक लेबलों के साथ ऐतिहासिक संधि की और अब इसका लाभ तमाम म्यूज़िशियनों को भी मिलने जा रहा है. मैं इस ऐतिहासिक पल का गवाह बनकर बेहद ख़ुश महसूस कर रहा हूं. अभी और भी कार्यों को अंजाम दिया जाना बाक़ी है. मगर मुझे इस बात का हर्ष है कि लता जी का देखा सपना आख़िरकार साकार होने जा रहा है.”

VS NATION
Author: VS NATION